मानसून की दस्तक

हालांकि गर्मी से झुलसते उत्तर भारत को मानसून की फुहारों से भीगने में कुछ वक्त और लगेगा मगर यह खबर सुकून देने वाली है कि मानसून ने केरल में दस्तक दे दी है। भले ही उसके आने में देरी हुई है मगर फिर भी मानसून की बाट जोहती करोड़ों आंखों में उम्मीदें पुख्ता हुई हैं। […]

Continue Reading

कमजोर विपक्ष

कांग्रेस में केंद्रीय नेतृत्व को लेकर जारी ऊहापोह के बीच राज्यों में पार्टी का अंतर्कलह और तेज हुआ है। जाहिर है इसके मूल में आम चुनाव में कांग्रेस की करारी पराजय और केंद्रीय नेतृत्व में भरोसा कम होना है। तेलंगाना में कांग्रेस के बारह विधायकों का पार्टी छोड़कर तेलंगाना राष्ट्र समिति में शामिल होना इसका […]

Continue Reading

मजबूर नहीं मजबूत भारत के लिए है जनादेश

‘मोदी हटाओ, लोकतंत्र बचाओ’ का नारा देने वाले विपक्षी दलों ने दशकों पुराने मतभेद भुला कर राज्यों के स्तर पर महागठबंधन बनाये, बड़ी-बड़ी संयुक्त रैलियां कीं, जनता को बड़े-बड़े सब्जबाग दिखाये, जातीय समीकरणों के आधार पर उम्मीदवार उतारे, लेकिन यह भूल गये कि यह 21वीं सदी है और अब 19वीं और 20वीं सदी के तौर-तरीकों […]

Continue Reading

अपमान की राजनीति करने वालों के लिए करारा सबक हैं चुनाव परिणाम

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की असाधारण और अभूतपूर्व विजय ने भारत ही नहीं विश्व की राजनीति में नया अध्याय जोड़ा है। अन्य देशों में ऐसा मौलिक परिवर्तन लाने में सैकड़ों वर्ष और हिंसक क्रांतियों की आवश्यकता हुई थी। भारत की हिंदू सांस्कृतिक धारा ने अंगुली पर तिलक लगाकर भारत को बदलने का आरंभ […]

Continue Reading

हिंसा पर सख्ती

कोलकाता में अमित शाह के रोड शो को रोकने के प्रयास में हुए उपद्रव के बाद पश्चिम बंगाल में जो हाई वोल्टेज राजनीतिक घटनाक्रम घूमा, उसने कई सवालों को जन्म दिया। कमोबेश पश्चिम बंगाल में चुनाव के हर चरण के दौरान राजनीतिक हिंसा सामने आई है। पश्चिम बंगाल की राजनीति की फितरत रही है जब […]

Continue Reading

तेल आयात प्रतिबंध से उपजा संकट

आप तेल पर प्रतिबंध लगा सकते हैं, मगर किसी शायर और उसके कलाम पर कैसे? संयोग देखिये, ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद ज़रीफ सोमवार को दिल्ली आये और खा़ली हाथ लौट गये। उनकी समकक्ष सुषमा स्वराज ने बता दिया कि ईरानी तेल के आयात पर चुनाव के बाद आने वाली सरकार निर्णय करेगी। जावेद […]

Continue Reading

तेल की तपिश

उम्मीद के मुताबिक अमेरिका ने संकेत दे दिये हैं कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर रोक लगाने के मकसद से लागू पेट्रोलियम कारोबार पर प्रतिबंध से उपजे हालात में वह भारत की मदद नहीं कर सकता। यानी वह भारत द्वारा ईरान से तेल खरीदना बंद करने के बाद सस्ते तेल की भरपाई सुनिश्चित करने में […]

Continue Reading

व्यावहारिक कदमों से लगेगी लगाम

इस चुनाव में लोकसभा निर्वाचन के लिए किसी उम्मीदवार के खर्च की सीमा सत्तर लाख है। इससे पहले कई बड़े नेता सार्वजनिक रूप से कह चुके हैं कि उन्होंने बीते चुनाव में कितने करोड़ खर्च किए। भारत में लोकतंत्रात्मक गणराज्य का सपना देखने वाले सेनानियों का मत था कि वोट के लिए निजी अपील करना […]

Continue Reading

हकीकत बनाएं ‘नोटा’ की मंशा को

हाल में एक प्रतिष्ठित लेखक के लेख में नोटा से विमुख होते वोटर, विषय से जुड़े ज्वलंत विषयों की ओर ध्यान खींचा। मसलन ईवीएम में नोटा (नन ऑफ द अबव) के तहत पड़ने वाले मतों का प्रतिशत क्या उस वक्त बदल जाएगा यदि इसका नाम बदलकर ‘नोटबी’ (नन ऑफ द बिलो) कर दिया या जब […]

Continue Reading

हरियाणा की दिशा भी बतायेंगे लोस चुनाव

हार-जीत हर चुनाव में महत्वपूर्ण होती है, लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव हरियाणा में राजनीतिक दलों-नेताओं का भविष्य भी तय करेंगे। पिछली बार मोदी लहर में हरियाणा में लोकसभा की 10 में से सात सीटें जीतकर चंद महीने बाद ही विधानसभा चुनाव में भी बहुमत से राज्य में सरकार बनाने वाली भाजपा पर प्रदर्शन दोहराने […]

Continue Reading