वर्ल्ड कप 2019ः इंग्लैण्ड ने दी भारत को 31 रनों से मात

national खेल दिल्ली

नई दिल्ली। जॉनी बेयरस्टो के शतक के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से इंग्लैंड ने रोहित शर्मा के शतक पर पारी फेरते हुए विश्व कप लीग मैच में रविवार को यहां भारत को 31 रन से हराकर नाकआउट में जगह बनाने की उम्मीदों को जीवित रखा। इंग्लैंड के 338 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम रोहित (102) के शतक के बावजूद पांच विकेट पर 306 रन ही बना सकी और उसे टूर्नामेंट में पहली हार का सामना करना पड़ा। रोहित ने कप्तान विराट कोहली (66) के साथ दूसरे विकेट के लिए 138 रन की साझेदारी की लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके। हार्दिक पंड्या ने 45 जबकि धोनी ने नाबाद 42 रन बनाए।

इंग्लैंड की ओर से लियाम प्लंकेट ने 55 रन देकर तीन जबकि क्रिस वोक्स ने 58 रन देकर दो विकेट चटकाए। भारत की यह हार निराशाजनक रही क्योंकि पूरी पारी के दौरान टीम इंडिया ने जीत दर्ज करने के लिए पर्याप्त जज्बा नहीं दिखाया। इंग्लैंड ने इससे पहले सलामी बल्लेबाज जानी बेयरस्टो (111) के शतक के अलावा बेन स्टोक्स (79) और जेसन राय (66) के अर्धशतक से सात विकेट पर 337 रन बनाए। बेयरस्टो  ने 109 गेंद में छह छक्कों और 10 चौकों की पारी के दौरान राय के साथ पहले विकेट के लिए 160 रन जोड़कर इंग्लैंड को तूफानी शुरुआत दिलाई। जो रूट (44) ने भी उम्दा पारी खेली। भारत की ओर से मोहम्मद शमी ने करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करते हुए 69 रन देकर पांच विकेट चटकाए। जसप्रीत बुमराह ने किफायती गेंदबाजी की और 44 रन देकर एक विकेट चटकाया जबकि बाकी गेंदबाज महंगे साबित हुए। इस जीत से इंग्लैंड के आठ मैचों में पांच जीत से 10 अंक हो गए हैं और टीम अंक तालिका में चौथे स्थान पर पहुंच गई है। भारत सात मैचों में 11 अंक के साथ दूसरे स्थान पर बरकरार है।

भारत की पारी

लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत की शुरुआत खराब रही। तेज गेंदबाज क्रिस वोक्स ने पहले तीन ओवर मेडन डाले और इस दौरान लोकेश राहुल को अपनी ही गेंद पर लपका। राहुल खाता भी नहीं खोल पाए। रोहित ने जोफ्रा आर्चर पर चौके से खाता खोला लेकिन दो गेंद बाद भाग्यशाली रहे जब रूट ने दूसरी स्लिप में उनका कैच टपका दिया। भारतीय टीम पावर प्ले में एक विकेट पर 28 रन ही बना सकी जो टूर्नामेंट में किसी टीम का पहले 10 ओवर में न्यूनतम स्कोर है। कोहली ने इसी बीच आर्चर पर लगातार दो चौके मारे जबकि रोहित ने मार्क वुड पर दो चौके जड़े। कोहली ने वुड पर चौके के साथ 14वें ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। कोहली ने स्टोक्स पर चौका और फिर दो रन के साथ 59 गेंद में विश्व कप में लगातार पांचवां अर्धशतक पूरा किया। धीमी शुरुआत करने वाले रोहित ने भी आदिल राशिद पर चौके के साथ 65 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। रोहित ने स्टोक्स पर लगातार तीन चौके मारे लेकिन कोहली लियाम प्लंकेट की गेंद को बैकवर्ड प्वाइंट पर स्थानापन्न खिलाड़ी जेम्स विन्स के हाथों में खेल गए। उन्होंने 76 गेंद का सामना करते हुए सात चौके मारे।

शिखर धवन के चोटिल होने के कारण टूर्नामेंट से बाहर होने पर विश्व कप में अपना पहला मैच खेल रहे ऋषभ पंत शुरू में काफी नर्वस दिखे और खाता खोलने से पहले ही दो बार रन आउट होने से बचे। रोहित ने प्लंकेट की गेंद पर दो रन के साथ 106 गेंद में मौजूदा विश्व का तीसरा और करियर का 25वां शतक पूरा किया। मोर्गन ने इसके बाद गेंद वोक्स को थमाई और उन्होंने कप्तान को निराश नहीं करते हुए नए स्पैल की पहली ही गेंद पर रोहित को विकेटकीपर जोस बटलर के हाथों कैच करा दिया। रोहित ने 109 गेंद का सामना करते हुए 15 चौके मारे। पंत भी 29 गेंद में 32 रन बनाने के बाद प्लंकेट की गेंद पर वोक्स के शानदार कैच का शिकार बने। पंड्या ने वोक्स पर लगातार तीन चौके मारकर रन गति में इजाफा करने की कोशिश की। भारत को अंतिम 10 ओवर में जीत के लिए 104 रन की दरकार थी। पंड्या भी इसके बाद प्लंकेट की गेंद पर विन्स को कैच दे बैठे जिससे भारत की रही सही उम्मीद भी टूट गई।

इंग्लैंड की पारी

इससे पहले टास जीतकर बल्लेबाजी करने उतरे इंग्लैंड को बेयरस्टो और राय की जोड़ी ने शानदार शुरुआत दिलाई। दोनों ने सतर्कता के साथ बल्लेबाजी करते हुए 10 ओवर में टीम का स्कोर 47 रन तक पहुंचाया। राय हालांकि 11वें ओवर में हार्दिक पंड्या की गेंद पर भाग्यशाली रहे जब भारत ने उनके खिलाफ डीआरएस नहीं लिया जबकि रीप्ले में दिखा कि गेंद उनके ग्लव्स को छूकर धोनी के हाथों में पहुंची थी। वह इस समय 21 रन बनाकर खेल रहे थे। बेयरस्टो  ने युजवेंद्र चहल पर दो छक्कों के साथ 16वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया और इस दौरान 56 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।  राय ने कुलदीप यादव की गेंद पर दो रन के साथ 41 गेंद में अर्धशतक पूरा किया और फिर अगली गेंद पर छक्का जड़ा। राय हालांकि कुलदीप की गेंद पर बड़ा शाट खेलने की कोशिश में लांग आफ पर स्थानापन्न खिलाड़ी रविंद्र जडेजा के शानदार कैच का शिकार बने। उन्होंने 57 गेंद का सामना करते हुए सात चौके और दो छक्के मारे। बेयरस्टो  और रूट ने इसके बाद पारी को आगे बढ़ाया। बेयरस्टो  ने स्वच्छंद बल्लेबाजी जारी रखी और पंड्या की गेंद पर एक रन के साथ 90 गेंद में विश्व कप का अपना पहला शतक पूरा किया। इंग्लैंड के 200 रन 30वें ओवर में पूरे हुए। कप्तान कोहली ने इसके बाद शमी को गेंदबाजी में वापसी कराई और उनके नए स्पैल की चौथी गेंद को ही बेयरस्टो  डीप प्वाइंट पर ऋषभ पंत के हाथों में खेल गए। शमी के अगले ओवर में इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन (01) भी शार्ट गेंद को हुक करने की कोशिश में फाइन लेग पर जाधव को कैच दे बैठे जिससे इंग्लैंड का स्कोर तीन विकेट पर 207 रन हो गया।

स्टोक्स ने इसके बाद मोर्चा संभाला। उन्होंने चहल पर दो छक्के और एक चौका मारा। चहल ने 10 ओवर में 88 रन खर्च किए जो एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में उनका सबसे खराब प्रदर्शन है।शमी ने अपने तीसरे स्पैल के लिए वापसी करते हुए पहली ही गेंद पर रूट को फाइन लेग पर पंड्या के हाथों कैच कराया। रूट ने 54 गेंद का सामना करते हुए दो चौके मारे। शमी ने जोस बटलर (20) और फिर क्रिस वोक्स (07) को पवेलियन भेजकर करियर में पहली बार पांच विकेट हासिल किए। स्टोक्स ने शमी की गेंद पर दो रन के साथ 38 गेंद में लगातार तीसरा अर्धशतक पूरा किया। स्टोक्स ने शमी की लगातार गेंदों पर दो चौके और एक छक्का मारा लेकिन पारी के अंतिम ओवर में बुमराह की गेंद पर जडेजा को कैच दे बैठे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *